Hanuman Chalisa PDF Download श्री हनुमान चालीसा in Hindi

Last Updated on December 6, 2020 by Vaishno

Hanuman Chalisa PDF Download श्री हनुमान चालीसा in Hindi for Free From Onlinenotes.in by using the download link which is given below.

Hanuman Chalisa श्री हनुमान चालीसा in Hindi

Read Hanuman Chalisa: Shree Hanuman Chalisa is named after Sri Hanuman ji beginning the couplets listed below and then the chaupai is read. After completing the chaupai, again a Doha is read which is listed below and at the Shree Hanuman Chalisa PDF. During the download link given below, you can down load Shree Hanuman Chalisa PDF very readily.

The Hanuman Chalisa is a Hindu devotional hymn (स्त्रोतम) addressed to Lord Hanuman. It’s been written by 16th-century poet Tulsidas from the Awadhi speech and can be his most bizarre text beside the Ramcharitmanas.

Hanuman is a devotee of Ram and among those fundamental characters from the epic, the Ramayan. Accordingto a Shaivite faith, Lord Hanuman can also be an incarnation of Lord Shiva. Folk-tales acclaim the forces of Hanuman.

जय श्री हनुमान चालीसा

दोहा:

श्रीगुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकुरु सुधारि।
बरनऊं रघुबर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।।
बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार।
बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।।

चौपाई:

जय हनुमान ज्ञान गुन सागर।
जय कपीस तिहुं लोक उजागर।।

रामदूत अतुलित बल धामा।
अंजनि-पुत्र पवनसुत नामा।।

महाबीर बिक्रम बजरंगी।
कुमति निवार सुमति के संगी।।

कंचन बरन बिराज सुबेसा।
कानन कुंडल कुंचित केसा।।

हाथ बज्र औ ध्वजा बिराजै।
कांधे मूंज जनेऊ साजै।

संकर सुवन केसरीनंदन।
तेज प्रताप महा जग बन्दन।।

विद्यावान गुनी अति चातुर।
राम काज करिबे को आतुर।।

प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया।
राम लखन सीता मन बसिया।।

सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा।
बिकट रूप धरि लंक जरावा।।

भीम रूप धरि असुर संहारे।
रामचंद्र के काज संवारे।।

लाय सजीवन लखन जियाये।
श्रीरघुबीर हरषि उर लाये।।

रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई।
तुम मम प्रिय भरतहि सम भाई।।

सहस बदन तुम्हरो जस गावैं।
अस कहि श्रीपति कंठ लगावैं।।

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा।
नारद सारद सहित अहीसा।।

जम कुबेर दिगपाल जहां ते।
कबि कोबिद कहि सके कहां ते।।

तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा।
राम मिलाय राज पद दीन्हा।।

तुम्हरो मंत्र बिभीषन माना।
लंकेस्वर भए सब जग जाना।।

जुग सहस्र जोजन पर भानू।
लील्यो ताहि मधुर फल जानू।।

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहीं।
जलधि लांघि गये अचरज नाहीं।।

दुर्गम काज जगत के जेते।
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते।।

राम दुआरे तुम रखवारे।
होत न आज्ञा बिनु पैसारे।।

सब सुख लहै तुम्हारी सरना।
तुम रक्षक काहू को डर ना।।

आपन तेज सम्हारो आपै।
तीनों लोक हांक तें कांपै।।

भूत पिसाच निकट नहिं आवै।
महाबीर जब नाम सुनावै।।

नासै रोग हरै सब पीरा।
जपत निरंतर हनुमत बीरा।।

संकट तें हनुमान छुड़ावै।
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै।।

सब पर राम तपस्वी राजा।
तिन के काज सकल तुम साजा।

और मनोरथ जो कोई लावै।
सोइ अमित जीवन फल पावै।।

चारों जुग परताप तुम्हारा।
है परसिद्ध जगत उजियारा।।

साधु-संत के तुम रखवारे।
असुर निकंदन राम दुलारे।।

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता।
अस बर दीन जानकी माता।।

राम रसायन तुम्हरे पासा।
सदा रहो रघुपति के दासा।।

तुम्हरे भजन राम को पावै।
जनम-जनम के दुख बिसरावै।।

अन्तकाल रघुबर पुर जाई।
जहां जन्म हरि-भक्त कहाई।।

और देवता चित्त न धरई।
हनुमत सेइ सर्ब सुख करई।।

संकट कटै मिटै सब पीरा।
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा।।

जै जै जै हनुमान गोसाईं।
कृपा करहु गुरुदेव की नाईं।।

जो सत बार पाठ कर कोई।
छूटहि बंदि महा सुख होई।।

जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा।
होय सिद्धि साखी गौरीसा।।

तुलसीदास सदा हरि चेरा।
कीजै नाथ हृदय मंह डेरा।।

दोहा:

पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।
राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप।।

Download Hanuman Chalisa श्री हनुमान चालीसा in Hindi in pdf format for free with the link given below.

Hanuman Chalisa PDF Download श्री हनुमान चालीसा in Hindi Link

Article  Hanuman Chalisa श्री हनुमान चालीसा
Pages 11
Size 0.90MB
Language Hindi


If Unable to Download This PDF
Alternate Link: Click Here

Pay Attention

In Case the download link of The Hanuman Chalisa PDF Download श्री हनुमान चालीसा Isn’t working or You’re feeling any other issue with This, then please report it by choosing If The Hanuman Chalisa श्री हनुमान चालीसा in Hindi is a copyrighted material which we will not supply any source for downloading at any cost.

Alternate Link: 

https://www.hindutemplealbany.org/wp-content/uploads/2016/08/Sri_Hanuman_Chalisa_Hindi.pdf

You might also like