Durga Saptashati PDF in Sanskrit

Download the Durga Saptashati PDF in Sanskrit for free by using the download link from aranyadevi.com is given below.

Durga Saptashati

श्री दुर्गासप्तशती पाठ

पूजनकर्ता स्नान करके, आसन शुद्धि की क्रिया सम्पन्न करके, शुद्ध आसन पर बैठ जाएं, साथ में शुद्ध जल, पूजन सामग्री और श्री दुर्गा सप्तशती की पुस्तक सामने रखें। इन्हें अपने सामने काष्ठ आदि के शुद्ध आसन पर विराजमान कर दें। माथे पर अपनी पसंद के अनुसार भस्म, चंदन अथवा रोली लगा लें, शिखा बांध लें, फिर पूर्वाभिमुख होकर तत्व शुद्धि के लिए चार बार आचमन करें। इस समय निम्न मंत्रों को बोलें-

ॐ ऐं आत्मतत्त्वं शोधयामि नमः स्वाहा।
ॐ ह्रीं विद्यातत्त्वं शोधयामि नमः स्वाहा॥
ॐ क्लीं शिवतत्त्वं शोधयामि नमः स्वाहा।
ॐ ऐं ह्रीं क्लीं सर्वतत्त्वं शोधयामि नमः स्वाहा॥

तत्पश्चात प्राणायाम करके गणेश आदि देवताओं एवं गुरुजनों को प्रणाम करें, फिर ‘पवित्रेस्थो वैष्णव्यौ’ इत्यादि मन्त्र से कुश की पवित्री धारण करके हाथ में लाल फूल, अक्षत और जल लेकर निम्नांकित रूप से संकल्प करें-

चिदम्बरसंहिता में पहले अर्गला, फिर कीलक तथा अन्त में कवच पढ़ने का विधान है, किन्तु योगरत्नावली में पाठ का क्रम इससे भिन्न है। उसमें कवच को बीज, अर्गला को शक्ति तथा कीलक को कीलक संज्ञा दी गई है।

It is possible to download Durga Saptashati PDF in Sanskrit in pdf format or browse online free of charge using the link supplied below.

Durga Saptashati PDF in Sanskrit Download Link

Article  Durga Saptashati
Pages 240
Size 0.56MB
Language Hindi/Sanskrit
PDF: Double click to Download PDF


If Unable to Download This PDF
Alternate Link: Click Here

Pay Attention

If the download link of Our Durga Saptashati PDF in Sanskrit is not working or you are feeling any other issue with it, then please report it by choosing If the Durga Saptashati is a copyrighted material which we will not supply its PDF or any source for downloading at any cost.

Leave a Comment